Maa Durga Aarti in Hindi | Navratri | 2019 |


मां दुर्गा की आरती

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

ॐ जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी

तुमको निसदिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिव री। ॐ जय…

 

मांग सिंदूर विराजत, टीको मृगमद को (मैया टीको मृगमद को)

उज्ज्वल से दोउ नैना चंद्रबदन नीको। ॐ जय…

 

 

कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै (मैया रक्ताम्बर राजे)

रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै। ॐ जय…

 

केहरि वाहन राजत, खड्ग खपरधारी (मैया खड्ग खपरधारी)

सुर-नर मुनिजन सेवत, तिनके दुःखहारी। ॐ जय…

 

कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती (मैया नासाग्रे मोती)

कोटिक चंद्र दिवाकर, राजत समज्योति। ॐ जय…

 

शुम्भ निशुम्भ बिडारे महिषासुर घाती(मैया महिषासुर धाती)

धूम्र विलोचन नैना निशदिन मदमाती। ॐ जय…

 

चौंसठ योगिनि मंगल गावत नृत्य करत भैरों (मैया नृत्य करत भैरों)

बाजत ताल मृदंगा अरू बाजत डमरू। ॐ जय…

 

भुजा चार अति शोभित खड्ग खपरधारी (मैया खड्ग खपरधारी)

मनवांछित फल पावत सेवत नर नारी। ॐ जय…

 

कंचन थाल विराजत अगर कपूर बाती (मैया अगर कपूर बाती)

श्री मालकेतु में राजत कोटि रतन ज्योति। ॐ जय…

 

श्री अम्बेजी की आरती जो कोई जन गावै (मैया जो कोई जन गावै)

कहत शिवानंद स्वामी सुख-सम्पत्ति पावै। ॐ जय…

 

After this Aarti, request maa Durga to bless the family with peace, prosperity and any other wish. Use food, dry fruits, fresh fruits, sweet etc to offer to the deity. This prasaad may be then distributed among the family members and others as the blessings of maa Durga.

This Aarti should be done in morning as well as in the evening every day till Navratri period is over.

Similar procedure to be adopted for all days of Navratri 2019.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *